• Home »
  • नोएडा/ग्रेनो »
  • 11 दिवसीय ऐतिहासिक बाराही मेला का भजन-संध्या के साथ आगाज , आज महिला दंगल के साथ होगा विधिवत उद्घाटन

11 दिवसीय ऐतिहासिक बाराही मेला का भजन-संध्या के साथ आगाज , आज महिला दंगल के साथ होगा विधिवत उद्घाटन

ग्रेटर नोएडा। क्षेत्र में हजारों वर्षों से ऐतिहासिक गौरवपूर्ण परंपरागत अपनी भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति को संजोए हुए 11 दिवसीय प्राचीन बाराही मेले का शुभारंभ रविवार से सूरजपुर कसबे में हो गया। प्रात: 11 बजे बाराही मंदिर के महंत श्री स्वामी ब्रह्मगिरी जी महाराज एवं अरविन्द शास्त्री द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ यज्ञ किया गया। इस मौके पर मुख्य यजमान के रूप में अलीगढ़ के एडीएम बच्चू सिंह थे। इसके बाद सायं 4 बजे मेले के आयोजक शिव मंदिर सेवा समिति के अध्यक्ष श्री धर्मपाल भाटी व पदाधिकारियों द्वारा ध्वजारोहण किया गया।

इस मौके पर बाराही मंदिर के महंत श्री स्वामी ब्रह्मगिरी जी महाराज ने अपने आर्शिवचन में कहा हजारों साल पहले पुल्सत्य मुनि ने मेला स्थल पर सैकड़ों वर्षो तक तपस्या की कर बाराही देवी की स्थापना की थी । उन्हीं की तपस्या का फल है बाराही मंदिर परिसर में स्थित चमात्कारिक सारेवर में नहाने से समस्त चर्म रोग खत्म हो जाते हैं।

समिति के महासचिव ओमवीर सिंह बैंसला ने बताया आज सोमवार को दोपहर 2 बजे महिला दंगल के साथ मेले का विधिवत रूप से उद्घाटन किया जायेगा।


bhajan 2

इसके पश्चात शाम में सांस्कृतिक मंच पर भजन संध्या का कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रस्तुति देते हुए भजन गायक धर्मवीर भाटी एन्ड पार्टी ने भक्ति पर आधारित भजन सुनाया। उनके गाए रामायण के केवट प्रसंग का भजन “गुरु के सामान नहीं दूसरा जिहान में, भगवान तुम्हारे चरणों को बिन धोये मैं नाव कैसे चलाऊं” सुन श्रोता भाव-विभोर हो गए।


bhajan 1
मथुरा से आए कृष्णपुरी जी महाराज एन्ड पार्टी ने कृष्ण भक्ति पर आधारित भजन की प्रस्तुति दी। उनके द्वारा गाए “सांवरे की महफ़िल को संवारा सजता है, किस्मत वालों से मिलने श्याम आता है” सुन दर्शक झूम उठे। ” हाथ जोड़ कर मांगता हूँ ऐसा दो जन्म तेरे नाम से शुरू तेरे नाम से ख़त्म” ने श्रोताओं की तालियां बटोरीं।


11 दिवसीय के मेले में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों में उत्तर प्रदेश समेत अन्य प्रदेशों से लगभग 500 लोक कलाकार भाग ले रहे हैं । जिसमे रागिनी के जाने माने कलाकार अपनी प्रस्तुति देकर धूम मचाएंगे। कार्यक्रम में मुख्य आकर्षण रागिनी के अलावा सुर झंकार, राष्ट्रीय कवि सम्मलेन, आदि होगा। इसके अलावा “बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ”, स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक किया जायेगा ।

मीडिया प्रभारी मूलचंद शर्मा ने बताया मेले में खाने पीने के स्वादिष्ट व्यंजनों की दूकानों के साथ साथ ही कपड़ों व लकड़ी से बने सामानों की दुकानें सजी हुई हैं। मनोरंजन के लिए अनेक प्रकार के झूले बच्चों के मनोरंजन के लिए लगे हैं। नागिन पार्टी, नटकला, कठपुतली शो, मैजिक शो, जादूगर शो, सरकस मौत का कुआं भी मनोरंजन के लिए मौजूद है। मेला परिसर में एक स्थान को गांव की चैपाल का शक्ल दिया गया है जिससे लोग ग्रामीण परिवेश से रूबरू हों। इस अवसर पर अध्यक्ष धर्मपाल भाटी, महासचिव ओमवीर बैंसला, मीडिया प्रभारी मूलचंद शर्मा, कोषाध्यक्ष लक्ष्मण सिंघल, विनोद भाटी, जगदीश भाटी, भोपाल ठेकेदार, डा. धनीराम देवधर, अनिल कपासिया, योगेश अग्रवाल , लीलू भगतजी ,रवि भाटी ,टेकचन्द प्रधान , धर्मवीर तंवर , महाराज सिंह उर्फ पप्पू , राकेश बैसला , तोलाराम , भंवर सिंह बैसोया ,अज्जू भाटी ,देवा शर्मा ,अरविन्द शास्त्री ,राजकुमार नागर , सुभाष शर्मा ,नवीन देवधर आदि मौजूद रहे।