बसपा विधायक की सदस्यता समाप्ति के आदेश

लखनऊं : उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज बहुजन समाज पार्टी (बसपा) विधायक उमाशंकर सिंह की विधानसभा की सदस्यता खत्म करने के आदेश दे दिए। राजभवन से जारी एक बयान के अनुसार निर्वाचन आयोग से बलिया जिले की रसड़ा सीट से विधायक चुने गए उमाशंकर सिंह की सदस्यता के संबंध में गत 10 जनवरी को मिली राय के आधार पर राज्यपाल ने अपनी संवैधानिक शक्तियों का प्रयोग करते हुए सिंह की विधानसभा की सदस्यता उनके विधायक निर्वाचित होने की तारीख ह मार्च, 2012 से समाप्त करने का निर्णय किया है।
UMA SHANKAR SINGH
सिंह पर विधायक बनने के बाद भी सरकारी ठेके लेने का आरोप था। बयान के अनुसार सुभाष चन्द्र सिंह नामक वकील ने 18 दिसम्बर, 2013 को शपथ पत्र देकर बसपा विधायक उमा शंकर सिंह के विरूद्ध लोकायुक्त के समक्ष शिकायत करते हुए आरोप लगाया था कि विधायक निर्वाचित होने के बाद भी सिंह सरकारी ठेके लेकर सडक़ निर्माण का कार्य कर रहे थे।

तत्कालीन लोकायुक्त न्यायमूर्ति एनके मेहरोत्रा ने प्राप्त शिकायत की जांच में सिंह को दोषी पाते हुए 18 फरवरी 2014 को अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भेजी थी। मुख्यमंत्री ने 19 मार्च, 2014 को यह मामला निर्वाचन आयोग के परामर्श के लिए राज्यपाल को भेजा था। तत्कालीन राज्यपाल ने यह मामला तीन अपै्रल, 2014 को आयोग के पास भेज दिया था।