डीएम एन.पी. सिंह ने कार्यालयों का किया शीतकालीन निरिक्षण

ग्रेटर नोएडा : जिलाधिकारी एनपी ¨सह ने शनिवार को कलक्ट्रेट व बिसरख ब्लाक कार्यालय सहित बिसरख कोतवाली व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्हें विभिन्न कार्यालय में कई खामियां मिलीं। इन खामियों पर नाराजगी जताते हुए उन्हें इसे अविलंब दुरूस्त करने के निर्देश दिए। साथ ही बिसरख कोतवाली में तैनात एक महिला कांस्टेबल से विभिन्न रजिस्टर व रिकॉर्ड के बारे में सवाल किए। सटीक जवाब मिलने पर जिलाधिकारी ने महिला कांस्टेबल को पुरस्कृत भी किया।
DM
शनिवार सुबह करीब साढ़े दस बजे जिलाधिकारी एनपी ¨सह ने कलक्ट्रेट परिसर स्थित इंगलिश रिकॉर्ड रूम, राजस्व अभिलेख रूम का बारीकी से निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सामने आया कि पुराने रिकॉर्ड निर्धारित समय पर बी¨डग नहीं कराया गया। रिकॉर्ड को दाखिल भी समयबद्धता के साथ नहीं कराया गया। अजायबपुर के राजस्व अभिलेख के रिकॉर्ड बस्ते में भी खामियां सामने आई। तहसील दादरी व जेवर द्वारा निर्धारित अवधि के दौरान खतौनी जमा नहीं कराई गई। इस मामले में उन्होंने एडीएम प्रशासन को संबंधित अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगने के लिए कहा है। उन्होंने रिकॉर्ड रूम की सभी पंजिका को मानक के अनुरूप तैयार करने के लिए कहा है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने ईआरके को डीएम कार्यालय के सभी डाक के प्रेषण व रख रखाव एक ही स्थान से करने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने आबकारी विभाग, आपूर्ति, निर्वाचन, सूचना, स्टांप, खनन विभाग का निरीक्षण किया। इसके उपरांत जिलाधिकारी एनआईसी पहुंचे व यहां ईवीएम मशीनों का रेंडामाइजेशन भी किया गया।
कलक्ट्रेट के बाद जिलाधिकारी सीधे बिसरख ब्लाक पहुंचे। यहां उन्होंने ब्लाक परिसर, स्वास्थ्य केंद्र व बिसरख कोतवाली का स्थलीय निरीक्षण किया। स्वास्थ्य केंद्र में वार्ड में पहुंच कर उन्होंने केंद्र में मौजूद सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान डिलीवरी के उपरांत कार्ड की जांच में खामियां पाई गई। जिन महिलाओं की डिलीवरी हो चुकी है उनके कार्ड समय पर भर कर अपडेट करने व इस कार्य में दोबारा कोताही सामने आने पर कार्रवाई की हिदायत दी। यहां उन्होंने जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र सेंटर का भी निरीक्षण किया।
बिसरख कोतवाली में मालखाने व असलाहों के रजिस्टर की जांच की। निरीक्षण के दौरान रजिस्टर 4 व 8 सहित अन्य रजिस्टर का निरीक्षण व रख रखाव की जांच की गई। रजिस्टर दुरूस्त होने पर कांस्टेबल रामशरण व नीतू को उन्होंने पुरस्कृत करने के निर्देश दिए। यहां उन्होंने स्टाफ के आवासीय भवन बनाने पर भी जोर दिया। इस अवसर पर उनके साथ सीडीओ माखनलाल गुप्ता, एडीएम प्रशासन कुमार विनीत, एडीएम वित्त केशव कुमार, एडीएम एलए अधर किशोर मिश्रा, एसडीएम सदर राजेश कुमार सिंह , सिटी मजिस्ट्रेट अंजनी कुमार, एसडीएम जेवर वीके श्रीवास्तव, जिला आबकारी अधिकारी कुलदीप यादव, पूर्ति अधिकारी विजय बहादुर, सीएमओ डाक्टर अनुराग भार्गव व सीओ राकेश कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। GRENONEWS.COM