• Home »
  • देश-विदेश »
  • यूपी समेत पांच राज्यों में चुनाव का ऐलान : यूपी में सात चरणों में होगा चुनाव, 11 मार्च को चुनाव नतीजे होंगे घोषित

यूपी समेत पांच राज्यों में चुनाव का ऐलान : यूपी में सात चरणों में होगा चुनाव, 11 मार्च को चुनाव नतीजे होंगे घोषित

नई दिल्ली : आज चुनाव आयोग ने यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव का ऐलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी इसकी जानकारी दी।
election comissioner

प्रथम फेज में गौतमबुद्धनगर, गाज़ियाबाद, मथुरा, अलीग़ढ, शामली, मुज़फ्फरनगर,बागपत , हापुड़, हाथरस समेत 15 जिले हैं। प्रथम चरण के लिए 17 जनवरी को नोटिफिकेशन जारी होगा। नामांकन करने की आखिरी तिथि 24 जनवरी होगी। 25 जनवरी को स्क्रूटनी होगी। 27 जनवरी को नाम वापसी की तारीख होगी। 11 फ़रवरी को प्रथम चरण का चुनाव होगा। गौतमबुद्ध नगम र 11 फ़रवरी को चुनाव होगा। 11 मार्च को सभी राज्यों के चुनाव नतीजे घोषित कर दिए जायेंगे।

चुनाव आयोग ने यूपी समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के लिए तारीखों का ऐलान, 4 फरवरी से मतदान
मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदीनई दिल्ली: चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान किया. यूपी, गोवा, उत्तराखंड, मणिपुर और पंजाब राज्य में चुनाव होने हैं. मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने तारीखों का ऐलान किया.
गोवा (40 सीटें) में नोटिफिकेशन 11 जनवरी, लास्ट डेट नोमिनेशन 18 जनवरी बुधवार, स्कूटनी 19 जनवरी तक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 21 जनवरी, 4 फरवरी 2017 शनिवार को मतदान.
पंजाब (117 सीटें) 11 जनवरी को नोटिफिकेशन, लास्ट डेट नोमिनेशन 18 जनवरी, स्कूटनी 19 जनवरी तक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 21 जनवरी, 4 फरवरी 2017 शनिवार को मतदान.
उत्तराखंड (70 सीटें) 20 जनवरी को नोटिफिकेशन, लास्ट डेट नोमिनेशन 27 जनवरी, स्कूटनी 28 जनवरी तक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 30 जनवरी, 15 फरवरी 2017 को मतदान.
मणिपुर (60 सीटें) पहला फेज ( 38 सीटें) 8 फरवरी को नोटिफिकेशन, लास्ट डेट नोमिनेशन 15फरवरी , स्कूटनी 16 फरवरी तक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 18फरवरी, 4 मार्च 2017 को मतदान.
दूसरा फेज ( 38 सीटें) 11 फरवरी को नोटिफिकेशन, लास्ट डेट नोमिनेशन 18 फरवरी , स्कूटनी 20 फरवरी तक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 22फरवरी, 8 मार्च 2017 को मतदान.
उत्तर प्रदेश (403 सीटें) चार चरणों में चुनाव
पहला चरण (73 सीटें, 15 जिले) 17 जनवरी को नोटिफिकेशन, लास्ट डेट नोमिनेशन 24 जनवरी , स्कूटनी 31 जनवरीतक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 27 जनवरी, 11 फरवरी 2017 को मतदान.
दूसरा चरण (67 सीटें, 11 जिले) 20 जनवरी को नोटिफिकेशन, लास्ट डेट नोमिनेशन 27 जनवरी, स्कूटनी 27 जनवरी तक पूरी, विद्ड्रावल ऑफ कैडिडेचर 30 जनवरी, 15 फरवरी 2017 को मतदान.
तीसरा चरण (53 सीटें, 12 जिले) 19 फरवरी 2017 को मतदान.
चौथा चरण 23 फरवरी को मतदान
पांचवां चरण 27 फरवरी को मतदान
छठा चरण 4 मार्च को मतदान
सातवां चरण 8 मार्च को मतदान

11 मार्च को सभी राज्यों के मतों की गिनती होगी और सभी राज्यों के परिणाम आएंगे.

उन्होंने बताया कि ईवीएम में इस बार चुनाव चिह्न के साथ प्रत्याशी की तस्वीर भी लगाने की व्यवस्था की गई है. यह भी व्यवस्था की गई है कि वोटर यह देख सके कि उसने किसको वोट दिया है. यानि एक स्लिप भी निकलेगी. जैदी ने बताया कि पोस्टल बैलेट की जगह इस बार ई-वोटिंग की व्यवस्था की गई है.

जैदी ने बताया कि गोवा विधानसभा का कार्यकाल 18 मार्च 2017, मणिपुर का 18 मार्च 2017, पंजाब 18 मार्च 2017,
उत्तराखंड का 26 मार्च 2017 और उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 27 मई 2017 को समाप्त हो रहा है.

उन्होंने बताया कि 100 प्रतिशत वोटरों के पास वोटर आईडी कार्ड हैं. इन पांच राज्यों में 16 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे. पांच राज्यों में 690 विधानसभा सीटें हैं. कुछ 23 सीटें रिजर्व सीटें हैं. इन इलाकों में 1.85 लाख वोटिंग स्टेशन होंगे. ईवीएम का प्रयोग सभी राज्यों में होगा. जिन इलाकों में महिलाओं पुरुषों के साथ असहज हैं वहां पर उनके लिए अलग पोलिंग बूथ की व्यवस्था की जाएगी.

चुनाव आयोग ने बताया कि सभी मतदाताओं को फोटो वाली वोटर स्लिप दी जाएगी. साथ ही चुनाव आयोग इस बार वोटर गाइड का प्रयोग करेगा जिसके जरिए सभी को मतदान के दौरान क्या करना है क्या नहीं करना है बताया जाएगा. उन्होंने बताया कि वोटिंग कंपार्टमेंट की ऊंचाई को बढ़ाया जाएगा.

उन्होंने बताया कि पोलिंग स्टेशन पर दिव्यांगों के लिए खास व्यवस्था होगी. जैदी ने बताया कि इस बार प्रत्याशी को नामांकन पत्र में तस्वीर भी लगानी होगी. उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड में प्रत्याशी 28 लाख रुपये खर्चा कर सकेंगे जबकि गोवा और मणिपुर में यह राशि 20 लाख रुपये रहेगी. साथ ही कहा गया है कि 20 हजार से ऊपर के खर्च को चेक से भुगतान दिया जाएगा.

चुनाव आयोग ने इस बार उन चैनल पर नजर रखने की तैयारी की है जिनमें राजनेताओं का मालिकाना हक है. चुनाव आयोग पेड न्यूज पर भी नजर रखेगा.

इससे पूर्व चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करने के उद्देश्य से आज चुनाव आयोग ने इन राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों के साथ एक बैठक की. सूत्रों ने बताया कि आज की बैठक में मणिपुर में कुछ नगा समूहों द्वारा की जा रही सड़कों की नाकाबंदी के कारण उत्पन्न कानून व्यवस्था की स्थिति पर मुख्य रूप से चर्चा की गई.

बैठक में राज्यों में कानून व्यवस्था की स्थिति के अलावा, निर्वाचन कर्मियों की तैनाती, सुरक्षा, इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों और चुनाव आचार संहिता का कड़ाई से पालन करने पर भी चर्चा की गई. चुनाव आयोग को दी गई रिपोर्ट में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मणिपुर की स्थिति का जिक्र किया है। वहां यूनाइटेड नगा काउंसिल ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 2 में नाकेबंदी की है और 60 दिन बाद भी राज्य सरकार सामान्य यातायात बहाल करने में कथित तौर पर नाकाम रही है.

वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों में तैनाती के लिए करीब 85,000 सुरक्षा कर्मी मुहैया कराएगा. इसके अलावा करीब 100 कंपनियां विभिन्न राज्यों से ली जाएंगी जिन्हें चुनाव ड्यूटी में लगाया जाएगा. इन कंपनियों में राज्य सशस्त्र पुलिस बल और इंडिया रिजर्व बटालियन शामिल होंगी. अर्धसैनिक बल की एक कंपनी में करीब 100 कर्मी होते हैं.

फिलहाल, चुनाव आयोग की योजना उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव सात चरणों में और अन्य राज्यों में एक चरण में कराने की है, लेकिन मणिपुर की स्थिति को देखते हुए पूर्वोत्तर के इस राज्य में एक से अधिक चरण में चुनाव कराए जा सकते हैं. फिलहाल इस बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है. election-commission-poll-dates-for-five-states-up-punjab-uttarakhand-goa-manipur

Sharing is caring!