• Home »
  • शिक्षा »
  • गलगोटिया यूनिवर्सिटी : आतंकवाद और प्रत्यर्पण पर छात्रों ने विशेषज्ञों से पूछे सवाल

गलगोटिया यूनिवर्सिटी : आतंकवाद और प्रत्यर्पण पर छात्रों ने विशेषज्ञों से पूछे सवाल

ग्रेटर नोएडा : गलगोटिया यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ लॉ में गुरूवार को ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों से आए विशेषज्ञों ने लेक्चर दिए। बौद्धिक संपदा संरक्षण, आतंकवाद एवं प्रत्यर्पण और कॉरपोरेट मानवाधिकार जैसे संवेदनशील मसलों पर चर्चा हुईं। छात्रों ने अपने सवाल पूछे और दोनों देशों के बीच शैक्षणिक सहयोग पर बातचीत की गई।
galgotia
गलगोटिया यूनिवर्सिटी के सीईओ ध्रुव गलगोटिया ने बताया कि पूरी दुनिया के लोग कुछ परेशानियों से जूझ रहे हैं। कुछ एक जैसी सबकी जरूरतें भी हैं। इन्हीं मुद्दों पर चर्चा करने के लिए ब्रिटेन से प्रोफेसर मार्क विंग, प्रोफेसर पॉल आरनेल और प्रोफेसर एंडी अंगर को बुलाया गया था। छात्रों ने इन विशेषज्ञों से आतंकवाद और प्रत्यर्पण जैसे संवेदनशील मुद्दे पर खुलकर चर्चा की। छात्रों ने दोनों देशों की शिक्षा व्यवस्था से जुड़े सवाल किए। प्रोफेसर पॉल आरनेल ने बताया कि कानून के क्षेत्र में छात्रों के लिए अपार संभावनाएं हैं। खास तौर से कॉरपोरेट लॉ, कारॅरपोरेट सोशल रेस्पोंसबिलिटी और कॉरपोरेट मानवाधिकार का क्षेत्र लगातार बढ़ रहा है। अंतरराष्ट्रीय कराधान व्यवस्था, क्लीनिकल लीगल एजूकेशन, अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक कानून और कॉरपोरेट-सामाजिक संबंध व्यवस्था पर पूरी दुनिया के विशेषज्ञ और छात्र मिलकर काम कर रहे हैं। धु्व ने बताया कि गलगोटिया यूनिवर्सिटी के छात्र इन विशेषज्ञों के साथ मिलकर डॉक्टेरेट के लिए शोध करेंगे। जल्दी ही हम अपने छात्रों को एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत ब्रिटिश यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए भेजेंगे। वहां के छात्र हमारे यहां आएंगे।सेमीनार के दोरान विवि0 की वी0सी0 डाॅ0 रेनू लूथरा, स्कूल आॅफ लाॅ की डीन किरण राॅय और शिक्षकगण मौजूद रहे।