• Home »
  • UP ELECTION 2017 »
  • आज कैद होगा प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला: बुजुर्गों व दिव्यांगों के लिए बूथ पर विशेष व्यवस्था : पहचान पत्र के लिए 12 विकल्प होंगे मान्य

आज कैद होगा प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला: बुजुर्गों व दिव्यांगों के लिए बूथ पर विशेष व्यवस्था : पहचान पत्र के लिए 12 विकल्प होंगे मान्य

ग्रेटर नोएडा। विधान सभा चुनावों के तहत प्रथम चरण का मतदान आज होगा। जिसके तहत जिले के तीनों विधानसभा सीटों के लिए आज वोट डालें जाऐंगे। तीनों विधानसभा सीटों पर कुल 36 उम्मीदवारों का भाग्य ईवीएम मशीनों में कैद होगा।

निष्पक्ष, भयमुक्त व शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए जनपद की सीमा पूरी तरह से सील कर दी गई है। चुनाव डयूटी के लिए रवाना हुई पोलिंग पार्टियां विधान सभा चुनाव के प्रथम चरण को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए जिले में सभी बूथों के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना हो गई है। करीब एक महीने से चल रही प्रत्याशियों व मतदाताओं के शह- मात का खेल अपने निर्णायक मुकाम तक पहुंच गया है। आज जिले में 1 2 लाख 52 हजार 266 मतदाता तीनों विधानसभा सीटों के लिए 36 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। इसके लिए शुक्रवार को ही पोलिंग पार्टियां रवाना हो गई है। मतगणना 11 मार्च को होगी।

बुजुर्गों व दिव्यांगों को बूथ तक लें जाने के लिए होगी विशेष व्यवस्था

इस बार मतदान के लिए बुजुर्गों एवं दिव्यागों को बूथ तक ले जाने के विशेष व्यवस्था की गई है। जिले के तीनों विधानसभा में तीन-तीन आदर्श मतदान बूथ बनाए गए हैं। इस बार जिले में 36 अति संवेदनशील बूथों पर विशेष नजर होगी। मतदान के दिन निगरानी करने के लिए 161 मतदान स्थलों पर माइक्रोआब्जरवर , 441 मतदाता स्थलों पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट व 146 बूथों पर वेबका¨स्टिंग यानि सीधा प्रसारण की व्यवस्था की गई है।

थानों पर पसरा सन्नाटा

भारी मात्रा में पुलिस कर्मी व होमगार्ड के बूथों पर तैनाती के बाद थानों पर सन्नाटा पसरा है। अधिकांश थानों की स्थिति यह है कि प्रभारी एक दारोगा और एक सिपाही मात्र बचे हैं। हालांकि पीआरडी व चैकीदारों को थानों पर सक्रियता बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। छह हजार जवानों पर सुरक्षा का जिम्मा जिले में मतदान के तहत सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह मुस्तैद है। 27 कंपनी अर्धसैनिक बल ने जिले में मोर्चा संभाला हुआ है। अर्धसैनिक बल के जवान बूथों पर मुस्तैद हो गए है। इसके अलावा गैर जनपद से तीन हजार पुलिसकर्मी जिले में आए है। पिछली बार के मुकाबले इस बार तीन कंपनी अर्धसैनिक बल बढ़ाया गया है। कुल मिलाकर करीब छह हजार जवान चुनाव के दौरान जिले की सुरक्षा व्यवस्था में लगाए गए है।

13 लाख मतदाता चुनेंगे अपनी सरकार

विधानसभा की तीनों सीटों के लिए हो रहे चुनाव में जिले में 13 लाख मतदाता अपनी सरकार चुनेंगे। बता दें कि जिले में 36 प्रत्याशी विभिन्न सियासी दलों और निर्दलीयों के रूप में चुनाव लड़ रहे । जिनके भाग्य का फैसला आज ईवीएम मशीनों में कैद हो जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी एनपी सिंह ने बताया कि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं । शाम तक चुनाव डयूटी के लिए नियुक्त 80 फीसदी कर्मचारी व अधिकारी निर्धारित इलाकों में पहुंच गए हैं।

पहचान पत्र के लिए 12 विकल्प होंगे मान्य

विधानसभा चुनाव में मतदान कराने के लिए पहचान पत्र के रूप में 12 विकल्प स्वीकार किए जाएंगे। यदि मतदाता पहचान पत्र नहीं है तो इसके स्थान पर पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राज्य केंद्र सरकार अथवा लिमिटेड कंपनियों की ओर से कर्मचारियों को दिए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र बैंक या डाकघर की ओर से जारी किया गया स्मार्ट कार्ड, मनरेगा कार्ड, जॉबकार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना से जारी स्वास्थ्य बीमा कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन तंत्र से जारी किया गया प्रमाणित फोटो मतदाता पर्ची, सांसद, विधायक, विधान परिषद सदस्य को जारी सरकारी पहचान पत्र एवं आधार कार्ड को अपनी पहचान सिद्ध करने के लिए प्रयोग करना होगा।

Sharing is caring!