अपहृत पुस्तक व्यापारी सकुशल बरामद

दादरी : चार दिन पहले बादलपुर कोतवाली क्षेत्र के सादोपुर की झाल से संदिग्ध हालत में अपहृत हुए पुस्तक विक्रेता को शुक्रवार को सकुशल बरामद कर लिया गया है। पुलिस पुस्तक विक्रेता के अपहर्ताओं की तलाश कर रही है।

ज्ञात हो कि बादलपुर कोतवाली क्षेत्र में पुस्तक विक्रेता का जीटी रोड पर पुस्तक स्टेशनरी की दुकान है। उसका अपनी पत्नी से तलाक का मामला न्यायालय में विचाराधीन है। पुलिस ने बताया कि उसका प्रेम प्रसंग भी चल रहा है। इस वर्ष जनवरी माह में पुस्तक विक्रेता अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए बुलंदशहर गया था, जहां प्रेमिका के परिजन ने दोनों को एक साथ देख लिया था। उसके बाद 11 मार्च को पुस्तक विक्रेता को जान से मारने की धमकी मिली थी। इसकी शिकायत उसने पुलिस से की थी लेकिन पुलिस ने उसकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया। बीस मार्च की शाम करीब चार बजे वो दुकान से उठकर शौच के लिए गया था, उसके बाद से ही वह वापस नहीं लौटा था। पीड़ित परिजन ने बुलंदशहर निवासी पांच लोगों पर सुरेंद्र का अपहरण करने का आरोप लगाते हुए बादलपुर पुलिस से शिकायत की थी।

पुलिस ने बताया कि आइ टेन कार में सवार चार लोग उसे अपनी कार में अपहरण कर ले गए थे। मारपीट के बाद उसे नशे का इंजेक्शन लगाकर बेहोश कर दिया था। उसके बाद अपहर्ताओं ने मेरठ के खरखौदा क्षेत्र के एक गांव में एक कमरे में बंद कर दिया था। तीन दिन तक पुस्तक विक्रेता को बेहोशी की हालत में कमरे में बंद रखा गया। बृहस्पतिवार को पीड़ित जब होश में आया तो उसने वहां से गुजर रहे साइकिल सवार को आवाज दी। साइकिल सवार ने मकान का ताला तोड़कर उसे बाहर निकाला। पीड़ित ने खरखौदा पुलिस व परिजन को फोन पर सूचना दी। उसके बाद खरखौदा पुलिस के सहयोग से बादलपुर पुलिस ने शुक्रवार को पुस्तक विक्रेता को बरामद कर मेडिकल के बाद परिजन के सुपुर्द कर दिया।

एसएचओ बादलपुर आनंद देव मिश्रा पुस्तक विक्रेता ने पूछताछ में बताया कि आइ टेन कार में सवार चार लोग उसका अपहरण कर ले गए थे। पीड़ित का मेडिकल जांच के बाद परिजन को सौंप दिया गया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।