• Home »
  • नोएडा/ग्रेनो »
  • नाईजिरियन्स अटैक मामला : मुकदमा दर्ज होने के विरोध में वकीलों ने की हड़ताल

नाईजिरियन्स अटैक मामला : मुकदमा दर्ज होने के विरोध में वकीलों ने की हड़ताल

ग्रेटर नोएडा : सोमवार को परीचौक पर मनीष खारी मौत मामले में कैंडलमार्च निकाला गया था। इस दौरान शहर के अलग-अलग हिस्सों में नाईजिरियन्स पर हमला हुआ था। जिसके बाद पुलिस ने 12 नामजद और 1200 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। नामजद आरोपी में दो वकील देवेंद्र टाइगर और नरेंद्र बैसोया का शामिल है। वकीलों पर मुकदमा दर्ज करने का विरोध करते हुए बुधवार को जिला न्यायालय में हड़ताल की घोषणा कर दी गई। पुलिस का विरोध करते हुए वकीलों ने कामकाज से अपने को दूर रखा । वकीलों की मांग है कि उनके साथियों के नाम मुकदमे से हटाए जाएं।
SURAJPUR COURT
जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विपिन भाटी ने बताया कि पुलिस गलत ढंग से कार्रवाई कर रही है। हम चाहते हैं कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। जिन लोगों ने हमले किए हैं पुलिस उनकी सही ढंग से पहचान करे और कार्रवाई करे। वकीलों का हिंसा से क्या लेना देना है। पुलिस ने बदले की भावना से वकीलों के नाम मुकदमा दर्ज कर दिया है। क्या अपनी बात शांति पूर्वक ढंग से कहने का हमें हक नहीं है।

विपिन भाटी ने बताया कि बार एसोसिएशन ने प्रस्ताव पारित करके हड़ताल की घोषणा की है। हम पुलिस से मांग करते हैं कि तत्काल हमारे साथियों के नाम मुकदमे से निकाले जाएं। अगर पुलिस ने वकीलों के नाम नहीं निकाले तो हमें मजबूर होकर आंदोलन करना पड़ेगा। हम पुलिस को भरोसा देते हैं कि सारे वकील जांच और हालात को सुधारने में मदद करेंगे लेकिन उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं करेंगे।