मकर संक्रांति पर खिचड़ी प्रसाद का हुआ वितरण : उत्तरायण का विशेष महत्त्व

ग्रेटर नोएडा / नोएडा : शहर में मकर संक्रांति का त्यौहार धूम धाम से मनाया गया। इस अवसर पर खिचड़ी का वितरण किया गया। ग्रेटर नोएडा के माता वैष्णो देवी मंदिर में हवन-पूजन के साथ खिचड़ी का वितरण किया गया। इसके अलावा अल्फा कमर्शियल बेल्ट, शिव मंदिर अल्फा – 1 में भी खिचड़ी के प्रसाद का वितरण किया गया।
khichdi vitran
नोएडा में सामाजिक संस्था “दीप एक पहल” के द्वारा निठारी सेक्टर- 31 मे खिचड़ी वितरित की गई। दीप एक पहल के अध्यक्ष चंद्र प्रकाश गौड़ ने बताया कि आज के दिन हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी खिचड़ी वितरित की गई है । मकर संक्रांति हिन्दू धर्म का प्रमुख त्यौहार है। यह पर्व पुरे भारत मे किसी न किसी रूप मे मनाया जाता है। पौष मास मे जब सूर्य मकर राशि पर आता है तब इस संक्रांति को मनाया जाता है। जिसमें लगभग 200 लोगों के बीच खिचडी वितरित की गई। इस अवसर पर मो0 तस्लीम, अर्जुन प्रजापति, रोहताश कुमार, अरुण कश्यप, सुनील कुमार, प्रकाश प्रजापति, ऋषि प्रजापति, मुन्नी भगेल, मोहित, पुराण पाल, सहित दीप एक पहल के सदस्य एवं स्थानीय निवासी मौजूद रहे।

पंडित रविकांत दीक्षित संस्थापक – महर्षि पाणिनि गुरुकुल ने बताया भारतीय ज्योतिष के अनुसार सूर्य का एक राशि को छोड़कर दूसरी राशि में प्रवेश के समय को संक्रान्ति कहा जाता है। एक वर्ष में बारह संक्रान्तियां होती हैं जिनमें से छह दक्षिणायन एवं छह उत्तरायण कहलाती हैं। इस बार मकर संक्रान्ति 14 जनवरी को मनाई जाएगी क्योंकि सूर्य का धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश होगा।

पौराणिक मान्यता के अनुसार सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होते ही उत्तरायण काल शुरू हो जाता है। मकर, कुम्भ, मीन, मेष, वृषभ तथा मिथुन राशि में सूर्य के परिभ्रमण की स्थिति उत्तरायण की मानी जाती है। उत्तरायण की ऊर्जा पंचमहाभूतों के लिए ऊर्जा निर्मित करती है। इस दृष्टि से उत्तरायण का विशेष महत्त्व है। — रोहित प्रियदर्शन GRENONEWS.COM