पुलिस रिमांड पर भेजा गया गिरफ्तार बिल्डर

नई दिल्ली । बायर्स को झूठे आशियाना सपना दिखाकर ठगने बिल्डर यूनिटेक के एमडी संजय चंद्रा को शुक्रवार की देर रात दिल्ली पुलिस की इकॉनमी क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। संजय पर आरोप है उसने गुरुग्राम एक प्रोजेक्ट के लिए लोगों का पैसा निवेश कराया। फिर र उन लोगों की पवाह किये बैगैर इनको बीच में ही छोड़कर वह पैसा विदेश में किसी दूसरी कंपनी में इन्वेस्ट दिया। बहरहाल उन्होंने दोपहर बाद दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पेश किया जाएगा। इससे इतर वह और उनकी कंपनी ग्रेटर नोएडा में एक प्रोजेक्ट के तहत लोगों को समय से घरों का पजेशन नहीं देने के आरोप में पहले भी जेल जा चुके हैं।
SANJAY CHANDRA
बता दें कि दिल्ली की आर्थिक अपराध शाखा ने शुक्रवार देर रात उन्हें गिरफ्तार किया। उनके साथ दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किए जाने की बात सामने आई है। उन पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने गलत तरीके से पैसा विदेश में भेजा। इससे पहले भी उनकी कंपनी पर गंभीर आरोप लगे हैं। उनकी कंपनी लोगों को ग्रेटर नोएडा प्रोजेक्ट में अब तक घर नहीं दे पाई है, जिसके चलते इनके ऊपर धोखाधड़ी के आरोप लगाए गए थे।

गौतलब है कि यूनिटेक ने अपने ग्रेटर नोएडा प्रोजेक्ट के तहत बड़ी संख्या में लोगों से रकम लेकर 2008 तक पजेशन देने का दावा किया था। हालांकि आज अपनी निर्धारित समयसीमा के 8 साल बाद भी लोगों को पजेशन नहीं मिल पाया है। ऐसे में कुछ लोगों ने कंपनी के एमडी संजय चंद्रा के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। कंपनी ने लोगों के साथ जो एग्रीमेंट किया था उसके अनुसार कंपनी को अप्रैल 2008 में लोगों को उनके घर का पजेशन दे देना था, ऐसा नहीं कर पाने और लोगों की शिकायत के बाद शुक्रवार देर रात दिल्ली अपराध शाखा ने एमडी चंद्रा को गिरफ्तार किया। बता दें कि इससे पहले चंद्रा के साथ-साथ कंपनी के चेयरमेन रमेश चंद्रा, एमडी अजय चंद्रा और निदेशक मिनोती को एक दिन के लिए जेल भी भेजा गया था। बहरहाल एक बार फिर कोर्ट आज शनिवार दोपहर को इन लोगों को कोर्ट में पेश करेंगी।