नेफोवा अन्य बायर संगठनों ने सीएम योगी के सामने रखी बायर्स की समस्याएँ , सीएम ने दिया जल्द ठोस कार्रवाई करने के आदेश

लखनऊ : आज सुबह 11 बजे मुख्यमंत्री कार्यालय में नेफोवा के पदाधिकारियों का दल एनसीआर के अन्य बायर संगठनों के साथ नोएडा के विधायक पंकज सिंह के नेतृत्व में मुख्यमंत्री से मिला तथा उनके सामने होम बायर्स के समस्याओं से जुड़े तमाम मुद्दे को रखा बैठक में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, औद्योगिक विकास सचिव और नोएडा तथा ग्रेटर नोएडा के सीईओ मौजूद थे ।

समस्याओं को लेकर औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने भी मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के सामने बात रखी और बताया कि वो इस समस्या को प्राथमिकता से देखेंगे। मुख्यमंत्री ने बैठक में मौजूद अधिकारियों को समस्याओं के निदान के लिए स्पष्ट निर्देश दिया है । उन्होंने कहा है कि बिल्डर से भी बात करें और इन समस्याओं को समाधान के लिए कहा जाए । मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि अगर घर ख़रीदारों की मांगों पर बिल्डर ध्यान नहीं देंगे तो कार्रवाई की जाएगी। कई समस्याओं से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले से ही अवगत थे। मुख्यमंत्री ने होम बायर्स की समस्याओं के लिए Grievance Cell बनाये जाने का भी निर्देश दिया।

घर ख़रीदारों की बात सुनी जाए तो आठ साल से बिल्डर से मिलने की कोशिश कर रहे घर ख़रीदारों को नई सरकार बनने के दो महीने से अंदर अपनी बात कहने का मौका मिला। चुनाव के वक्त से ही बायर्स लगातार नेताओं से मिल रहे थे।पंकज सिंह ने वादा किया था वो जीते या हारे लेकिन घर ख़रीदारों की हक़ की आवाज़ उठाएंगे।जीतने के बाद उन्होंने तुरंत पीड़ित घर ख़रीदारों के साथ बैठक की और उनकी समस्याएं मुख्यमंत्री के सामने रखी।जिसके बाद मुख्यमंत्री ने फ्लैट ख़रीदारों को मिलने के लिए बुलाया।

नेफोवा की तरफ़ से अध्यक्ष अभिषेक कुमार, सुमित सक्सेना, इंद्रीश कुमार, सुमिल जलोटा, मिहिर गौतम, सागर चौधरी मीटिंग में शामिल हुए।जेपी विश टाउन बायर्स की तरफ से प्रमोद रावत, एसडी मितरों, एनसीआर बायर्स की तरफ से रषिस पुरोहित, नेफोमा से अन्नू ख़ान सहित कई बायर्स मौजूद थे। मुख्यमंत्री के भरोसे के बाद घर ख़रीदारों में घर मिलने की उम्मीद जगी है।उन्हें उम्मीद है कि अथॉरिटी के नए अधिकारी मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद सख्ती दिखाएंगे, अथॉरिटी के काम में पारदर्शिता आएगी और बेईमान बिल्डरों पर लगाम लगेगी।

केंद्र की तरह ही मज़बूत रीयल एस्टेट यूपी में जल्द लागू करवाने के भरोसा भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया।उन्होंने कहा कि इसको लेकर निर्देश दे दिया गया है।