• Home »
  • अपराध »
  • नोएडा ऑनलाइन फ्रॉड मामला : आरोपियों से पूछताछ जारी, 72 सीपीयू जब्त

नोएडा ऑनलाइन फ्रॉड मामला : आरोपियों से पूछताछ जारी, 72 सीपीयू जब्त

नोएडा । एब्लेज सॉल्यूशन कंपनी के मालिक अनुभव मित्तल, सीईओ श्रीधर और टेक्निकल हेड महेश दयाल को विशेष जांच दल ने बृहस्पतिवार को जेल से रिमांड पर लिया। तीनों से एसटीएफ की तीन अलग-अलग टीमें पूछताछ कर रही है। तीनों को कोर्ट ने 14 फरवरी तक की रिमांड दी है। पांच दिन में विशेष जांच दल 37 सौ करोड़ के फर्जीवाड़े से जुड़े सभी राज सामने लाएगा। जांच दल का जोर सबसे ज्यादा इस बात पर होगा कि तीन हजार करोड़ रुपयों को कैसे और कहां खपाया गया?इधर अनुभव मित्तल के निशन्देही पर एसआईटी की टीम ने सेक्टर- 62 स्थित ऑफिस से 72 सीपीयू जब्त किया है। इनमे पेमेंट गेटवे के डिटेल्स है।

14 दिसंबर को यस बैंक के खाते से ट्रांसफर किए 200 करोड़

अनुभव मित्तल ने गाजियाबाद के आरडीसी में स्थित यस बैंक के खाते से 14 दिसंबर 2016 को 200 करोड़ रुपये विभिन्न खातों में ट्रांसफर किये थे। इसी के बाद यस बैंक ने अनुभव मित्तल के खातों की जांच के आदेश दे दिए थे। जिसके बाद बैंक के बिजनेस रिलेशन मैनेजर अतुल मिश्रा ने अनुभव मित्तल से मिलीभगत कर ली थी। अतुल ने 15 दिसंबर 2016 से 31 जनवरी 2017 तक कई खातों में छह सौ करोड़ रुपये ट्रांसफर करा दिए। इसमें अनुभव मित्तल के कंपनी के दस व दो निजी खातों में भी करोड़ों रुपये गए हैं। यह जानकारी गिरफ्तार होने के बाद अतुल मिश्रा ने एसटीएफ को दी है। एसटीएफ को यह भी पता चला है कि एक बार में मोटी रकम केनरा बैंक के खाते में भी गई है। अब उस खाते की जांच हो रही है। अतुल मिश्रा से विस्तृत पूछताछ के बाद एसटीएफ ने उसे जेल भेल दिया।

ऑनलाइन शिकायतों की संख्या 9 हजार

अनुभव मित्तल के खिलाफ एसटीएफ के पास आ रही ऑनलाइन शिकायतों की संख्या 9 हजार हो गई है। ऑनलाइन लाइक का काम कर रही अन्य कंपनियों के खिलाफ भी एसटीएफ को शिकायत मिल रही है। जिसे जांच में शामिल किया जाएगा।

ऑनलाइन लाइक कराने वाली एक अन्य कंपनी के बाहर हंगामा

सेक्टर 2 की एक कंपनी पर ऑनलाइन लाइक के नाम पर लोगों से पैसे लेने का आरोप लगा है। बृहस्पतिवार दोपहर एक दर्जन से ज्यादा लोग कंपनी के बाहर पहुंचे। लोगों ने कंपनी के बाहर नारेबाजी और हंगामा किया। उन्होंने कंपनी पर ऑनलाइन लाइक के नाम पर साढ़े ग्यारह हजार रुपये लेने का आरोप लगाया। साथ ही लोगों ने रिफंड फार्म भरकर पैसे की मांग की। कंपनी ने लोगों के फार्म ले लिए। जल्द ही उनके पैसे वापस करने का आश्वासन दिया गया। इसके बाद लोग शांत हुए। एसटीएफ का कहना है कि ऑनलाइन लाइक के नाम पर धंधा कर रही अन्य कंपनियों को भी जांच के दायरे में लाया जाएगा।

ऐसे हुआ फर्जीवाड़ा

एसटीएफ एसएसपी अमित पाठक ने 2 फरवरी को बताया था कि सेक्टर 63 के एफ ब्लाक में स्थित एब्लेज इंफो सॉल्यूशन नाम की कंपनी ने अगस्त 2015 में सोशल टे्रड डॉट बिज नाम से ऑनलाइन पोर्टल बनाया। पोर्टल से जुडऩे के लिए 5750 से 57500 रुपये तक की चार स्कीम निर्धारित की।

ग्राहकों को भरोसा दिलवाया गया कि आइडी लेने के बाद लॉग इन कर ऑनलाइन पोर्टल पर आकर पेज को लाइक करने पर हर लाइक पर पांच रुपये मिलेंगे। इस जाल में फंस कर लोग कंपनी के खाते में पैसा जमा कर कंपनी की आइडी लेने लगे। लाखों से 37 सौ करोड़ की ठगी गई गई।

कंपनी संचालक अनुभव मित्तल, सीईओ श्रीधर और महेश दयाल को गिरफ्तार किया गया। कंपनी के खाते में पांच सौ करोड़ से अधिक रुपये फ्रीज कराए गए। साथ ही यस बैंक के बिजनेस रिलेशन मैनेजर अतुल मिश्रा को भी अनुभव मित्तल का सहयोग करने में गिरफ्तार किया जा चुका है।