• Home »
  • नोएडा/ग्रेनो »
  • मेडिकल स्टोरों पर ड्रग्स विभाग का छापा : नहीं मिला क्रय-विक्रय का रेकॉर्ड

मेडिकल स्टोरों पर ड्रग्स विभाग का छापा : नहीं मिला क्रय-विक्रय का रेकॉर्ड

ग्रेटर नोएडा : बृहस्पतिवार को कासना गांव के बाजार में औषधि निरीक्षक की टीम छापेमारी करने पहुंची। बस स्टैंड के समीप एक मेडिकल स्टोर व एक दवाई की एजेंसी पर छापा मारकर कई नमूने एकत्रित किए। नमूनों को जांच के लिए भेजा गया।
DRUG INSPECTOR
मेडिकल स्टोर में मानक के मुताबिक दवाइयों के क्रय-विक्रय का रिकॉर्ड न मिलने पर औषधि निरीक्षक की टीम ने तत्काल प्रभाव से बंद करा दिया गया है। इसकी सूचना मिलते ही क्षेत्र के मेडिकल स्टोर संचालकों में हड़कंप मच गया। कई मेडिकल स्टोर संचालक अपने स्टोर को बंद कर फरार हो गए।

औषधि निरीक्षक की टीम दोपहर करीब 12 बजे कासना गांव में छापेमारी करने पहुंची। कासना बस स्टैंड के समीप स्थित मेडिकल स्टोर पर औषधि निरीक्षक की टीम छापा मारने पहुंची। टीम के देखते ही मेडिकल स्टोर संचालक के हाथ पांव फूल गए। औषधि निरीक्षक की टीम ने मेडिकल स्टोर संचालक से स्टॉक रजिस्टर सहित क्रय व विक्रय का रजिस्टर दिखाने के लिए कहा। स्टोर में क्रय विक्रय का कोई रिकॉर्ड मौजूद नहीं था। मेडिकल स्टोर से तीन दवाइयों के नमूने एकत्रित किए गए हैं। इन दवाइयों की खरीद रसीद मेडिकल स्टोर संचालक के पास नहीं थे। टीम ने मेडिकल स्टोर को तत्काल बंद करा दिया। दवाइयों के दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद इन्हें दोबारा खोलने की अनुमति दी जाएगी। यहां से टीम कासना गांव में ही स्थित मेडिकल एजेंसी पर पहुंची। यहां भी दवाइयों के स्टॉक व क्रय-विक्रय के दस्तावेज नहीं मिले। यहां से भी सीरप व दवाइयों के तीन नमूने एकत्रित किए गए। दवाई एजेंसी को चेतावनी देते हुए क्रय विक्रय के अभिलेख प्रस्तुत करने तक दवाइयों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है।

दीपक शर्मा, औषधि निरीक्षक, ने बताया गौतमबुद्ध नगर कासना बाजार में एक मेडिकल स्टोर व एक दवाई एजेंसी पर छापेमारी कर तीन-तीन दवाइयों के नमूने लिए गए। दोनों स्थानों पर क्रय-विक्रय के रिकॉर्ड नहीं मिले। स्टोर व एजेंसी संचालकों को अभिलेख प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है। अभिलेख प्रस्तुत करने के उपरांत इन पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया जाएगा।