• Home »
  • नोएडा/ग्रेनो »
  • चार साल से बिछ़ड़ी महिला को पुलिस ने परिवार से मिलाया, एसओ जेवर ने दी 10 हजार रुपये की मदद

चार साल से बिछ़ड़ी महिला को पुलिस ने परिवार से मिलाया, एसओ जेवर ने दी 10 हजार रुपये की मदद

जेवर । सिलीगुड़ी पश्चिमी बंगाल से चार वर्ष पूर्व अपनी सुसराल से गायब हुई तीन बच्चो की माॅ को एस ओ जेवर के मानवीय व्यवहार व प्रयास के चलते महिला को उसके बच्चो व माँ बाप को बिहार से बुलाकर बीती रात मिलवाया तो मुक बधिर महिला अपने बच्चों व माँ बाप को जेवर कोतवाली मे देख अपने बच्चों व माँ बाप से लिपटकर फफक फफक कर रो पड़ी जिसे देख कोतवाली मे मौजूद लोग भी अपने आंसू नही रोक पाये ।
jewar
मोहल्ला शरीफ गंज पोस्ट डहरिया जिला कटिहार बिहार निवासी महमूल बेगम पुत्री मोहम्मद महफिल 26 वर्ष की शादी दस साल पूर्व सिलीगुड़ी पश्चिमी बंगाल निवासी सुलेमान के साथ हुई थी जिसने तीन बच्चो को जन्म दिया था महमूल बेगम जो मुक बधिर थी जो अपनी सुसराल से चार वर्ष पूर्व अचानक गायब हो गयी थी महमूल बेगम को उसके सुसराल जनो व मायके वालो ने काफी तलाश किया मगर उसका कोई भी सुराग नही लगा मायके वालो व सुसराल जनो ने महमूल बेगम को मृत समझ कर उसकी खोजबीन बन्द कर दी ।
उसके बाद सुलेमान ने अपने तीनो बच्चो को अपनी पत्नी मुक बधिर महमूल बेगम के मायके छोड़ दिया और अपनी दुसरी शादी कर ली महमूल के जिन्दा मिलने पर जहां उसके मायको व बच्चो मे भारी खुशी है तो उधर पत्नी से पति का बच्चो पिता का सहारा मिलना संभव नही है क्योंकि सुलेमान ने दुसरी शादी रचा ली है
मुक बधिर की माॅ मेथिया खातून पत्नी मोहम्मद मोफिल 55 वर्ष मोहम्मद सईद मौसा व पुत्र शाहनवाज 8 वर्ष जो बेहद निर्धन परिवार से है बीती रात करीब सात बजे जेवर कोतवाली पहुंचे तो उक्त मुक बधिर महमूल बेगम अपने मायके बच्चो को देख फूट-फूट रो पड़ी जिसे देखकर कोतवाली मे मौजूद लोग अपने आंसू ओ को रोक नही पाये जेवर क्षेत्र के लोगो ने कोतवाली प्रभारी जेवर द्वारा किये मानवीय व्यवहार की जमकर सराहना की ।

इस मामले मे कोतवाली प्रभारी अजय कुमार शर्मा ने बताया की उक्त मुक बधिर महिला महमूल बेगम करीब पच्चीस दिन पूर्व कोतवाली क्षेत्र के गांव रोही मे रात को ग्राम प्रधान भगवान सिंह के आहते मे आ बैठी जिसकी सूचना प्रधान ने फोन से कोतवाली पुलिस जेवर को दी . कोतवाली प्रभारी अजय कुमार शर्मा ने मुक बधिर महिला के मामले को गंभीरता से लेते हुए बिहार , बंगाल , झारखंड व मध्यप्रदेश प्रांत की क्राइम ब्रांच की सोशल साइट्स पर उक्त महिला के फोटो डालकर जानकारी मांगी जो दस दिन बाद कोतवाली प्रभारी जेवर को कामयाबी मिली और मुक बधिर महिला की उसके मायके वालो से बता करा दी आर्थिक स्थति कमजोर होने के कारण एस ओ जेवर अजय कुमार शर्मा ने किराये तौर पर मुक बधिर महिला की माॅ के खाते दस हजार रुपये डाल दिये तब जाकर वह जेवर पहुंचे जिसमे मुक बधिर महिला के परिजनो व कस्बे के लोगो ने एस ओ जेवर की मानवीय व्यवहार की जमकर सराहना की ।

Sharing is caring!