• Home »
  • स्वास्थ »
  • ’’स्माइल डिजाईनिंग पर एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन’’

’’स्माइल डिजाईनिंग पर एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन’’

ग्रेटर नोएडा : आई0टी0एस0 डेंटल काॅलेज के आई0टी0एस0 सेंटर फाॅर क्लीनिकल एक्सीलेंस द्वारा ‘‘ स्माइलडिजाईनिंग ’’ पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन मनी कम्पनी जापान के साथ मिल कर किया गया।
its
अगर आप के दांतों की बनावट की वजह से आप सबके सामने खुलकर मुस्कुरा नही सकते है जिसके कारण आपके आत्मविश्वास में कमी आ रही है, तो आपको चिंता करने की जरूरत नही है।अब आपके दांतो की बनावट आपकी मुस्कुराहट की बाधक नही बन सकती है। आपके दांतो का सफलता पूर्वक इलाज आई0 टी0 एस0 डेंटल काॅलेज, ग्रेटर नोएडा में सम्भव है यह बात आई0 टी0 एस0 डेंटल काॅलेज के निदेशक डाॅ0 अनमोल एस0 काल्हा ने संस्थान में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में चिकित्सकों और छात्रों को सम्बोधित करते हुए कही।
कार्यशाला में दंत चिकित्सा के क्षेत्र में हो रही नई-नई तकनीकियों के बारे में विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी गयी जिसमें प्रमुख रूप से डाॅ0 मोहन भुवनेश्वरन(सचिव इंडियन एकेडमी आॅफ काॅस्मेटिक डेंटिस्ट्री एवं एस्थेटिक, मुम्बई ) का व्याख्यान रहा। डाॅ0 मोहन भुवनेश्वरन ने कहा कि दांतों के इलाज के तरीके में काफी बदलाव आया है। अब आने वाले समय में मरीज दांतों के जरूरी इलाज के अतिरिक्त अपने व्यक्तित्व में निखार हेतुआवश्यक परिवर्तन जैसे दांतों के ऊपर लेमिनेशन, दांतों को सफेद करवाना, आगे के दांतों की बनावट को सुंदर बनवाना आदि भी करवा सकते है। जिससे मरीजों को उनके व्यक्तित्व को निखारने में मददगार होता है और मरीजों का आत्मविश्वास बढ़ता है जिस से उन्हें एक नई ऊर्जा मिलती है।
संस्थान के कंर्जेवेटिव विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ0 रोहित कोचर ने कहा कि व्यक्तित्व निखार हेतु दांतों की बनावट में संस्थान के चिकित्सकों द्वारा सुंदर बनाया जा सकता है।उन्होंने बताया कि भविष्य में भी इस तरह के कार्यक्रम होते रहेगे ताकि प्रबुद्ध वक्ताओं द्वारा अध्यापकों तथा छात्रों के ज्ञान का विकासत था आधुनिकरण होता रहेगा।
इस कार्यशाला में दिल्ली-एन0सी0आर0 के 100 से अधिक दंत चिकित्सकों के अतिरिक्त संस्थान के सभी चिकित्सकों और छात्रों ने भाग लिया।
कार्यशाला के सफल आयोजन के लिये निदेशक डाॅ0 काल्हा ने आयोजकों की पूरी टीम को बधाई देते हुए कहा कि संस्थान मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया करा ने हेतु इस तरह की कार्यशाला का आयोजन करता रहता है।
कार्यशाला में भाग लेने आये सभी चिकित्सकों ने इस पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस कार्यशाला से उन्हे काफी कुछ सीखने को मिला है। जिससे वे मरीजों का इलाज आसानी से कर पायेंगे।